सीतामढ़ी से निर्दलीय प्रत्याशी अमित कुमार का नामांकन, यहाँ की राजनीति का इस बार अलग ही अंदाज है

0
29
सीतामढ़ी:सीतामढ़ी लोकसभा से मंगलवार को निर्दलीय प्रत्याशी अमित कुमार उर्फ़ माधव चौधरी ने अपना नामांकन दर्ज कराया। और नामांकन के बाद शुरू हो गया सीतामढ़ी समाहरणालय में हाई वोल्टेज ड्रामा।  निर्दलीय उम्मीदवार अमित कुमार उर्फ माधव चौधरी के नामांकन दाखिल करने के बाद पुलिस ने उन्हें समाहरणालय परिसर से ही अपने हिरासत में ले लिया।
जिसके बाद उनके समर्थक आक्रोशित हो उठे और जमकर हंगामा करने लगे। अमित कुमार के नामांकन में हजारों समर्थक शामिल थे।  पुलिस जहाँ जमानत न करने के बात पर अडिग थी तो वही समर्थक बिना सबूत पेश किए बेल कराये जाने की बात कह रहे थे।  घंटो चले हाई प्रोफ़ाइल ड्रामे के बाद पुलिस ने निर्दलीय प्रत्याशी अमित कुमार को माननीय न्यायलय से बेल बांड पर छोड़ा गया। वहीं पुलिस द्वारा बिना जांच के अपने प्रत्याशी को हिरासत में लिए जाने को लेकर समर्थकों ने नारेबाजी की।  इस बाबत निर्दलीय प्रत्याशी माधव चौधरी ने बताया कि ये सत्ता पक्ष की साजिश है या विपक्ष की वे नहीं जानते है।  लेकिन वो जनता के प्रत्याशी है और जनता उनके साथ है तो उनका कोई भी अहित नही कर सकता है। आज फिर मेरी जनसभा को रोकने की साज़िश रची गई, लेकिन सीतामढ़ी की अवाम के हुजूम ने इनके मंसूबे नाकाम कर दिये !
उन्होंने कहा कि

हम दिल भी जीत रहे हैं और चुनाव भी।
ये हवेली से खंडहर का रास्ता हो जायेगा,
किसने सोचा था कि इतना फासला हो जायेगा !
मैं मनाने पर तुला था तुझको इतनी देर से,
तू ख़फ़ा है तो निकल आ फैसला हो जायेगा !

 

माधव चौधरी को हिरासत में लेने का कारण बताया गया की उनके साथ काफी ज्यादा समर्थक थे। आचार संहिता का उल्लंघन हुआ है। वहीं समर्थकों का कहना था की हम सबके प्रिय अमित चौधरी का नामंकन है तो हम लोग आए हैं। हालांकि सीतामढ़ी की राजनीति का अपना अलग ही अंदाज है। यहाँ से राजग प्रत्याशी डॉ बरुन अपना सिंबल वापस कर चुके हैं। जिसके बाद यहाँ से राजग के सिंबल पर पिंटू कुमार चुनावी मैदान में है। लेकिन निर्दलीय प्रत्याशी अमित कुमार के नामांकन के बाद जनसभा में जो भीड़ दिखी वह कुछ और ही इशारे करती है। इस शीट पर निर्दलीय प्रत्याशी दलीय प्रत्याशी पर भाड़ी दिख रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here