सीतामढ़ी ODF घोटाला को लेकर सदन में हंगामा,DM ने कहा: पैसा लेकर लोगों ने नहीं बनाया शौचालय

0
82
पटना/सीतामढ़ी:बिहार के सबसे पहले ODF जिला सीतामढ़ी में शौचालय घोटाला सामने आया है। मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने बिहार को 2 अक्टूबर 2019 तक खुले में शौच मुक्त करने की घोषणा कर रखे हैं। बिहार का सबसे पहला ODF जिला सीतामढ़ी बना था। सीतामढ़ी के वर्त्तमान और तत्कालीन जिलाधिकारी डॉ रणजीत कुमार सिंह ने सीतामढ़ी को 17 जुलाई 2018 को ODF घोषित किये। डीएम का अपना दावा था की एक दिन में 1 लाख 10 हजार गड्ढे खोदे गए। जिसके बाद 7-8 दिनों में 70 हजार शौचालय का निर्माण कराया गया।
सीतामढ़ी को ODF घोषित करने का लक्ष्य 75 दिनों में प्राप्त हुआ। बिहार में अब तक 13 जिले ODF घोषित किये जा चुके हैं। सीतामढ़ी के बाद शेखपुरा और रोहतास ODF घोषित किया गया। लेकिन सीतामढ़ी को ODF घोषित किये जाने के ठीक एक वर्ष बाद यह खुलाशा हुआ की सीतामढ़ी केवल कागज पर ODF घोषित है। जबकि जमीनी सच्चाई कुछ और है।  मुजफ्फरपुर से सीतामढ़ी जाने के क्रम में सीतामढ़ी जिला के पहले प्रखंड रुन्नी सैदपुर के माधोपुर चौधरी गाँव के ग्रामीणों ने बताया की यहाँ शौचालय नहीं बना है। किसी-किसी घर में शौचालय का निर्माण कराया गया है। माधोपुर चौधरी में ही सार्वजनिक शौचालय भी बना है। लेकिन शौचालय में शीट नहीं बैठाया गया है।
इस खुलाशे के बाद आज विधान मंडल में मानसून सत्र के दौरान विपक्ष ने खूब हंगामा किया। कांग्रेस और राजद नेताओं ने कहा की सीतामढ़ी में ODF के नाम बड़ा घोटाला हुआ है। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। कांग्रेस विधान पार्षद प्रेम चंद मिश्रा ने कहा की सीतामढ़ी में करोड़ो का घोटाला हुआ। सीतामढ़ी के डीएम रणजीत कुमार सिंह ने गिनीज बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड के लिए नाम भेजा,की एक ही दिन में 113 करोड़ का भुगतान किया गया ,4 लाख शौचालय बना दिया गया। जबकि जमीनी हकीकत कुछ और है।
विधान मंडल में हंगामा के बाद सीतामढ़ी के डीएम रणजीत कुमार सिंह जिला के वरीय पदाधिकारियों के साथ रुन्नी सैदपुर के माधोपुर चौधरी गाँव पहुँच जाँच किये। इस मामले में डीएम ने कहा की लोगों ने पैसा लेकर शौचालय नहीं बनाया। पैसा लेकर शौचालय नहीं बनाने वालों के खिलाफ कार्रवाई होगी। इसके बाद डीएम रुन्नी सैदुपर प्रखंड कार्यालय में बारिश के दौरान भींगते हुए पहुँचकर बाढ़ से पूर्व की तैयारियों का जायजा लिया,और लोगों की समस्या को भी सुना।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here