हजारों फिट अवैध बालू का भंडारण देख आश्चर्यचकित हुए DM,देखना है क्या होती है कार्रवाई ?

0
127
महनार:बाढ़ की तैयारी का जायजा लेने आज वैशाली डीएम राजीव रौशन महनार के हसनपुर घाट पहुँचे। जहाँ लाल बालू के काले धंधे में शामिल माफियाओं की करतूत देखकर डीएम आश्चर्यचकित रह गए। हसनपुर घाट के किनारे बालू माफियाओं ने हजारों फीट लाल बालू का भण्डारण कर रखा है। आज बाढ़ से बचने के लिए बनाए जा रहे बांध का निरीक्षण करने जब डीएम महनार के हसनपुर पहुँचे तो इस काले धंधे का खुलाशा हुआ।
बालू भंडारण में लगे माफियाओं द्वारा हसनपुर बॉर्डर से महनार बाजार तक दर्जनों जगह बांध को कटवा दिया गया है। इस मामले में जल संसाधन विभाग के अधिकारीयों को डीएम ने अविलम्ब प्राथमिकी दर्ज करने और बांध को तीन दिनों के अंदर दुरुस्त कराने का निर्देश दिए। आज डीएम की जाँच में जिस तरह बालू माफियाओं की करतूत सामने आई इससे स्थानीय प्रशासन और जल संसाधन विभाग के अधिकारी अंजान हो ऐसा नहीं हो सकता।
स्थानीय सूत्रों की माने तो हर वर्ष जल संसाधन विभाग के मिलीभगत से बालू माफियाओं द्वारा बांध कटवा दिया जाता है। और फिर बाद में बांध मरम्मति के नाम पर लाखों का बिल बनाकर सरकारी रुपयों को बर्बाद किया जाता है। सरकारी रुपयों की बर्बादी में इन लोगों का भी अपना कमिशन तय होता है। अब डीएम ने प्राथमिकी का आदेश जारी कर दिया है तो प्राथमिकी तो होगी ही,लेकिन अज्ञात लोगों पर। जो पहले से चलता आया है। यानी की यह बालू का भंडारण किसका है यह किसी को पता नहीं होता। इस मामले में देखने वाली बात यह भी होगी की अवैध बालू भण्डारण मामले में क्या कार्रवाई होती है, या पीले बालू का यह काला धंधा यूँही चलता रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here