बिहार के जनप्रतिनिधियों को बनना चाहिए ऐसी महिला मुखिया और विधायक 

0
74
सीतामढ़ी रीगा विधायक अमित कुमार और सिंघवाहिनी मुखिया रितु जायसवाल
सीतामढ़ी:अभी पुरा बिहार बाढ़ से प्रभावित है। जिसमे सबसे ज्यादा प्रभावित जिला सीतामढ़ी है। माता सीता की जन्मभूमि कहे जाने वाले इस जिला में हर साल बाढ़ का पानी विनाश बनकर आता है। और अपने साथ लेकर चला जाता है इस जिला के लोगों का सपना ,और छोड़ जाता है विनाश की वो दर्दनाक यादें। लेकिन बाढ़ के बचाव के लिए इस जिला के जिलाधिकारी से लेकर विधायक और मुखिया तक अपने क्षेत्र के लोगों की सेवा में दिन रात रहते हैं।
सीतामढ़ी जिलाधिकारी डॉ रणजीत कुमार सिंह रात में भी कमर भर पानी से होते हुए बाढ़ में फसे लोगों को निकालने अपने टीम के साथ चले जाते हैं। जिला के सिंघवाहिनी पंचायत की मुखिया रितु जायसवाल भी अपने पंचायत के लोगों को मदद करने के लिए लाठी का सहारा लेकर कमर तक पानी से होते हुए उनके पास तक राहत का सामान पहुँचती है। वहीं सीतामढ़ी के रीगा विधायक सावन के महीने में उपवास रहते हुए अपने क्षेत्र के लोगों को खाना-पानी का प्रबंध करने में स्वयं जुटे रहते है। रीगा विधायक अमित कुमार टुन्ना अपने कंधे पर अनाज की बोरी उठाकर अपने समर्थको के साथ स्वयं राहत कैम्प तक पहुँचते हैं। जबसे सीतामढी जिले में बाढ आयी है तब से अमित कुमार क्षेत्र की जनता के बीच जान जोखिम में डालकर लगातार राहत कार्यो में लगे हैं।
गौरतलब हो कि रीगा के कई ऐसे इलाके है जहाँ बाढ के बाद आने जाने का कोई साधन नही था बावजूद इसके जान जोखिम मे डालकर बाढ पिडितो की मदद कर रहे हैं। सबसे चौंकाने वाली बात ये कि रीगा विधायक पूरे सावन भगवान शिव का व्रत रखते है और इस दौरान वे चप्पल तक नही पहनते और नंगे पाँव बाढ राहत कार्यो में लगे हैं और वर्षों से सावन के महीने में वे विधान सभा तक नंगे पाँव ही जाते है। वही विधायक की अगर माने तो बाढ राहत के दौरान कई ऐसे मौके भी आये जब उन्हे लगा कि वो पानी से जीवित वापस नही लौट पायेंगे,फिर भी उन्होने हौसला नही हारा और अब भी अपने निजी कोष से राहत कार्यो में लगे हुये हैं। सुबह छ: बजे से रात के ग्यारह बारह बजे तक बाढ पिडितो की सेवा में लगे रहते हैं रीगा विधायक अमित कुमार सिंह उर्फ़ टुन्ना,इतना ही नही कांग्रेस विधायक के इन कार्यो की सरकार और प्रशासन भी सराहना करते नही थकते मौका था डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी की बाढ राहत समीक्षा बैठक का जिसमें डीएम ने विधायक के बाढ राहत कार्यो की जमकर सराहना की।
सीतामढ़ी में इस वर्ष के बाढ़ के दौरान यहाँ के जिलाधिकारी डॉ रणजीत सिंह, महिला मुखिया रितु जायसवाल और रीगा विधायक अमित कुमार जिस तरह लोगों की मदद कर रहे, इस बात को लेकर सीतामढ़ी में एक उम्मीद यहाँ के लोगों को है। यहाँ के दोनों जनप्रतिनिधियों से बिहार के अन्य जनप्रतिनिधियों को प्रेरणा लेनी चाहिए की जिन लोगों ने उन्हें अपना प्रतिनिधि चुना है उनकी सेवा किसी भी परिस्थिति में करनी चाहिए। 
सीतामढ़ी से विक्की सिंह की रिपोर्ट… 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here