कुछ इस तरह मुजफ्फरपुर में आम लोगों से जुड़े हैं डीएम आलोक रंजन घोष 

0
78
मुजफ्फरपुर डीएम आलोक रंजन घोष
मुजफ्फरपुर:सावन की अंतिम सोमवारी को छाता बाजार स्थित बाबा गरीब नवाज और गरीब स्थान कमिटी से जुड़े लोगों ने हिन्दू-मुसलमान एकता की मिशाल पेश की। आज सावन की अंतिम सोमवारी के साथ बकरीद भी था। इस लिए छाता बाजार के अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों ने रविवार को यह घोषणा किये की हम बकरीद तो मनाएंगे लेकिन कुर्बानी मंगलवार को मनाएंगे। आज सोमवार को जिला के कांटी थाना क्षेत्र में डीजे बजाने को लेकर दो गुटों में विवाद हो गया। घटना की सुचना मिलते ही मुजफ्फरपुर के डीएम अलोक रंजन घोष और एसएसपी मनोज कुमार घटनास्थल पर पहुंचे। इलाके में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई।
मामले में असामाजिक तत्त्व अफवाह नहीं फैलाए इसे लेकर डीएम और एसएसपी के ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर अफवाह नहीं फ़ैलाने को कहे। अफवाह फ़ैलाने वालो के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई की बात बताई गई। इस मामले के बाद कांटी थाना क्षेत्र में ही बिजली का करेंट लगने से 5 लोगों के जख्मी होने की सुचना डीएम को मिलती है। डीएम को यह सुचना जिला के एक व्हाट्सएप्प ग्रुप से मिलती है। सुचना मिलने के 4 मिनट के अंदर ही डीएम इस मामले में संज्ञान लेते हुए पूछते हैं की यह घटना कैसे घट गई। इस मामले में कोई हताहत तो नहीं,किसी तरह के सहयोग की जरुरत? जिस व्हाट्सएप्प ग्रुप में यह बात डीएम ने पूछी वह ग्रुप जिला प्रशासन का नहीं है।
लेकिन उस ग्रुप में जिला के डीएम,एसएसपी से लेकर सभी थानाध्यक्ष और जिला के पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्त्ता के अलावे पटना तक के पत्रकार और बिहार के DGP तक है। इस तरह का ग्रुप संभवत: बिहार के हर जिला में है। लेकिन मुजफ्फरपुर के डीएम जिला के जिस किसी भी व्हाट्सअप्प ग्रुप में हैं वहाँ मुजफ्फरपुर से सम्बंधित खबर पोस्ट होने पर स्वतः संज्ञान लेते है। अगर इस तरह हर डीएम सोशल मीडिया तक एक्टिव हो जाएँ तो जिला में लोग जिला प्रशासन से मदद नहीं मिलने की शिकायत नहीं कर सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here