वैशाली SP की बड़ी कार्रवाई,घूश लेने के आरोप में नगर थाना के मुंशी और स्वीपर के खिलाफ FIR ,मुंशी फरार

0
444
Getty Image...
घुश लेकर बाइक को छोड़ने मामले में नगर थाना के मुंशी के खिलाफ एफआईआर…
जांच के लिए एसडीपीओ के पहुंचने से पहले थाना से मुंशी हुआ फरार…
पुलिस कप्तान द्वारा गठित स्वाट टीम द्वारा बिना हेलमेट पकड़े गए युवक को बिना ट्रैफिक चालान काटे घुश लेकर छोड़ने के चंद मिनटों बाद दुबारा पकड़ा गया था बाइक सवार…
पुलिस कप्तान डॉ गौरव मंगला ने मुंशी को किया निलंबित, फरार मुंशी को अविलंब गिरफ्तार करने का आदेश
हाजीपुर:
वैशाली में बढ़ते अपराध को रोकने के लिए वैशाली पुलिस कप्तान की कमान संभालते ही पुलिस कप्तान डॉ गौरव मंगला ने कई तरह से जिला की पुलिसिंग को मजबूत बनाया। वैशाली में पदस्थापन के साथ ही इन्होने कई तरह की नई पुलिस टीम का गठन किया। जिसका नतीजा है की आज वैशाली में अपराध का ग्राफ काफी काम हुआ है। पुलिस कप्तान द्वारा गठित स्वाट टीम गुरुवार की सुबह द्वारा बिना हेलमेट के पकड़े गए बाइक सवार को बिना ट्रैफिक चालान काटे ही घुश लेकर थाना से छोड़ने के मामले में नगर थाना के मुंशी कपुरचंद  के खिलाफ नगर थाना में ही प्राथमिकी दर्ज की गई है। प्राथमिकी दर्ज करने और जांच के लिए सदर एसडीपीओ राघव दयाल के पहुंचने के पहले ही आरोपित मुंशी थाना से फरार हो गया। इस मामले में बाइक सवार नगर थाना क्षेत्र के सांचीपट्टी निवासी मेहित रंजन के बयान पर नगर थाना में मुंशी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस कार्रवाई और जांच में जुट गई है। इस मामले में पुलिस कप्तान ने मुंशी को निलंबित करते हुए अविलंब गिरफ्तारी का आदेश दिया है।
घटना के संबंध में बताया जाता है कि सांची पट्टी के रहने वाले नेहित रंजन ग्लैमर बाइक से गुरुवार की सुबह बाजार आ रहा था। इसी दौरान त्रिमुर्ति चौक के पास बाईक जांच कर रही स्वाट टीम ने इसे बिना हेलमेट पकड़ लिया। टीम लीडर विजय कांत ने इसे बाइक सहित नगर थाने पर पहुंचा दिया। इस मामले में थाना के मुंशी कपूर चंद पर आरोप है कि इन्होंने बाइक सवार से पहले तो फाइन के रुप में एक हजार रुपया मांगा, लेकिन जब बाइक सवार ने रुपया नहीं होने की बात कही तो, मुंशी ने इसे अपनी बाईक पर बैठाकर एक एटीएम ले गया। वहां से एक हजार रुपया निकाल कर बाइक सवार को लेकर फिर से थाना ले आया। यहां से बाइक सवार से आठ सौ रुपया लेकर बाइक सवार को भगा दिया गया। लेकिन जैसे हीं बाइक सवार फिर से त्रिमुर्ति चौक के पास से गया कि दुबारा उसी स्वाट टीम ने जिसे इसे कुछ देर पहले ही पकड़ा था ,उसके द्वारा बिना हेलमेट के पकड़ा गया।
जब स्वाट टीम के पुलिसकर्मियों ने उससे फाईन की पर्ची मांगी तो उसने बताया कि रुपया थाना को दे दिया गया है और वहां से रसीद नहीं मिली है। इसके बाद स्वाट टीम के द्वारा इस बात की जानकारी एएसपी अभियान सूर्यकांत सिंह को दी गई। जिसके बाद उसी बाइक पर बैठकर मेहित रंजन के साथ एएसपी अभियान सूर्यकांत सिंह नगर थाना पहुंचे। इस दौरान नगर थाना का मुंशी कपुरचंद फरार हो गया।
मामले की जानकारी मिलते ही वैशाली पुलिस कप्तान डॉ गौरव मंगला ने मामले में जांच का आदेश दिया। मामले में एसडीपीओ सदर राघव दयाल ने मामले की जांच  के दौरान बाइक सवार के आरोप को सही पाया। जिसके बाद बाइक सवार के बयान पर रिश्वत लेने के आरोप में नगर थाना के मुंशी और स्वीपर विनोद मल्लिक पर प्राथमिकी दर्ज की गई। इस दौरान थाने से आरोपित मुंशी फरार होने में सफल रहा। पुलिस कप्तान ने मुंशी को निलंबित करते हुए अविलंब गिरफ्तारी का आदेश दे दिया है।
वैशाली पुलिस कप्तान डॉ गौरव मंगला
मामले में क्या कहते हैं वैशाली पुलिस कप्तान डॉ गौरव मंगला… 
एक शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि नगर थाना का मुंशी और सफाईकर्मी ने ट्रैफिक जुर्माने के बदले रिश्वत ली। एसडीपीओ सदर ने जांच की और आरोप को सही पाया। जिसके बाद दोनों के खिलाफ केस रजिस्टर किया गया है। मुंशी भाग गया है। मुंशी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए इसे निलंबित कर दिया गया है। आरोपित मुंशी को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here