8 पुलिसवालो का हत्यारा मोस्टवांटेड हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे गिरफ्तार, 5 राज्यों की करीब 40 हजार पुलिस लगी थी पीछे

0
185
उत्तर प्रदेश का कुख्यात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे 
कानपुर हत्याकांड के 7 दिनों बाद भी UP पुलिस नहीं कर सकी गिरफ्तार… 8 पुलिसवालो की हत्या में पुलिस ने ही विकास के लिए की थी मुखबिरी… नोएडा स्थित किसी मीडिया हाउस में इंटरव्यू देने की थी प्लानिंग… इंटरव्यू के दौरान ही पुलिस करती गिरफ्तार… विकास की गिरफ़्तारी के बाद UP, मध्य प्रदेश पुलिस सवालो में… 
इस वक्त की बड़ी खबर मध्य प्रदेश के उज्जैन स्थित महाकाल थाना क्षेत्र से है। उत्तर प्रदेश के कानपुर का गैंगस्टर 5 लाख का ईनामी विकास दुबे को महाकाल मंदिर के पास से गिरफ्तार किया गया है। यह कार्रवाई मध्य प्रदेश की पुलिस ने की है।  गिरफ्तारी के बारे में बताया जा रहा है कि गिरफ्तारी के दौरान गैंगस्टर विकास दुबे महाकाल मंदिर में पूजा करने के लिए गया हुआ था। मंदिर के पास विकाश दुबे ने अपनी पहचान सिक्यूरिटी गार्ड को बताया जिसके बाद विकास की गिरफ़्तारी सुनिश्चित हो सकी। विकास दुबे ने पूजा को लेकर बकायदा अपने नाम का पर्ची भी कटाया हुआ था। इस दौरान ही मंदिर के गार्ड ने विकास को पकड़ा।  उसे बाद महाकाल थाना पुलिस के हवाले उसको कर दिया गया।  मध्यप्रदेश की पुलिस यूपी पुलिस से संपर्क कर ली है। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री विकास की गिरफ़्तारी के लिए अपनी उपलब्धि बता रही है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने विकास के गिरफ़्तारी की पुष्टि कर दी है।
https://youtu.be/OvmDvttz9tg
विकास के दो गुर्गों को पुलिस ने मार गिराया…

गैंगस्टर विकास दुबे तो फरार था , लेकिन उसके गुर्गों की सामत आ गई थी। यूपी पुलिस ने विकास के सहयोगी प्रभात मिश्रा और रणवीर शुक्ला को मार गिराया है। दोनों पुलिस पर फायरिंग कर भागने की कोशिश कर रहे थे। घटना के बारे में बताया जा रहा है कि प्रभात को बुधवार को यूपी पुलिस ने फरीदाबाद से गिरफ्तार किया था। पुलिस कानपुर ला रही थी। इस दौरान ही उसने पुलिस की पिस्टल छिन ली और भागने लगा। इस दौरान वह पुलिस पर फायरिंग करने लगा। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने प्रभात को मार गिराया। इसके बारे में कानपुर जोन के एडीजी नेे कहा कि गाड़ी खराब होने का फायदा उठाकर प्रभात मिश्रा ने पिस्टल छीनकर पुलिस पर फायर करने की कोशिश की और मुठभेड़ में मारा गया। इस मुठभेड में हमारे STF के 2 जवान और कुछ पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

इटावा में रणवीर को मार गिराया…

विकास के दूसरे साथी रणवीर शुक्ला को भी पुलिस ने मार गिराया। बताया जा रहा है कि देर रात वह महेवा हाइवे पर कार को लूट रहा था। इसके साथ में तीन और साथी थे।  इस दौरान ही सिविल लाइन की पुलिस पहुंची और घेर लिया। पुलिस को देख रणवीर ने फायरिंग शुरू कर दी। जिसके बाद पुलिस ने रणवीर को मार गिराया। जबकि उसके साथी भाग निकले। रणवीर 50 हजार रुपए का इनामी अपराधी था और वह विकास के लिए काम करता था। बता दें कि विका दुबे के बिकरू पुलिस छापेमारी करने गई थी तो विकास ने अपने गुर्गों के साथ पुलिस टीम पर हमला कर दिया था।  इस हमले में एक डीएसपी समेत 8 पुलिसकर्मी मारे गए थे। जिसके बाद से पुलिस विकास की तलाश में जुटी है वह फरार चल रहा है। इस दौरान उससे गुर्गों का भी पुलिस कार्रवाई कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here