लॉकडाउन कानून और हुआ सख्त , बेवजह घर से निकले तो FIR, 3 वर्ष जेल: DGP गुप्तेश्वर पांडेय

0
463
डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय

पटना: फेज-2 लॉकडाउन- 1 में बेवजह सड़क पर मटरगश्ती करने वालों के खिलाफ अब बिहार पुलिस सख्ति से पेश आएगी। बिना उचित कारण के घरों से बाहर घूमते पकड़े गए लोगों के खिलाफ IPC की सुसंगत धाराओं के अलावे नेशनल डिजास्टर एक्ट व महामारी एक्ट के तहत FIR दर्ज होगी। दर्ज FIR के अनुसंधानकर्ता 24 घंटों के तहत आरोपी के खिलाफ न्यायालय में चार्जशीट सम्मिट करेंगे.

हालांकि मामले में तत्काल जमानत मिल जाएगी। लॉकडाउन समाप्त होने पर इन मामलों का एक माह में न्यायालय में स्पीडी ट्रायल होगा। उक्त एक्ट के तहत 3 वर्ष के जेल का प्रावधान है। डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने बिहार के सभी जिलों के पुलिस कप्तान को उक्त आदेश जारी कर कहा। बकौल डीजीपी, ऐसे मामलों में दोषियों को तीन वर्ष तक के जेल का प्रावधान है।

उक्त मामले में पुलिस की गवाही होगी। डीजीपी ने स्पस्ट कर दिया है की सड़कों पर लॉकडाउन के दौरान मटरगश्ती करने या बहाना बना कर घर से निकलने वालों का नाम सम्बंधित थाना के गुंडा रजिस्टर में दर्ज होगा। डीजीपी ने बिहार के सभी जिलों के पुलिस कप्तान को साइबर सेल एक्टिव करने को कहा है। साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाले पोस्ट या अन्य आपत्तिजनक मैसेज-वीडियो पोस्ट करने वालों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई कर जेल भेजने का निर्देश दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here