बाढ़ के पानी में फंसे बुजुर्ग को डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने बचाया, तेज धारा में बहने के बाद पेड़ पकड़ा था बुजुर्ग

0
365
मोतिहारी जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक
मोतिहारी: उत्तर बिहार के 10 जिलों में बाढ़ का पानी आ चूका है। इन जिलों में जनजीवन पटरी से उतर चुकी है। सरकार बाढ़ पीड़ितों की मदद को तत्पर है। शनिवार को गोपालगंज जिला में सेना के हेलीकॉप्टर से राहत पैकेट बाढ़ पीड़ितों तक पहुंचाया गया। उत्तर बिहार के मोतिहारी में गंडक नदी का बांध टूटा तो उसकी चपेट में एक बुजुर्ग आ गया। बुज़ुर्ग बाढ़ के पानी की तेज धारा में बहता गया। इस बीच एक पेड़ मिला तो वह पकड़कर अपने आप को बाढ़ के पानी में बहने से बचा लिया।
इस दौरान ही उस रास्ते से NDRF की टीम जा रही थी। इस दौरान बुजुर्ग ने आवाज दिया तो टीम उसके पास पहुंची। तब मोतिहारी डीएम ने बुजुर्ग को पकड़कर नाव पर चढ़ाया। बताया जा रहा है कि NDRF की टीम के साथ डीएम और एसपी बाढ़ का जायजा लेने नाव से निकले थे। दोनों अधिकारी संग्रामपुर प्रखंड के भवानीपुर में निकले थे। इस दौरान ही बुजुर्ग ने नाव देख आवाज लगाई तो टीम बुजुर्ग के पास पहुंची। नाव पर डीएम शीर्षत कपिल अशोक और पुलिस कप्तान नवीनचंद्र झा पर सवार थे। डीएम बुजुर्ग के पास चलने के लिए बोले।
मोतिहारी पुलिस कप्तान नवीनचंद्र झा
बताया जा रहा है कि जिस जगह पर बुजुर्ग फंसे थे वहां पर नाव का जाना संभव नहीं था। फिर दूसरी तरफ से नाव को लेकर टीम गई। इस दौरान एक रस्सी फेंककर उससे पकड़ने के लिए बोला गया। फिर बुजुर्ग के पास नाव पहुंची तो डीएम ने बुजुर्ग का हाथ पकड़ा और नाव पर चढ़ाया। रेस्क्यू के बाद बुजुर्ग ने राहत की सांस ली। बुज़ुर्ग ने बताया कि वह पानी की तेज धारा में बहता जा रहा था। कुछ समझ में नहीं आ रहा था। लेकिन इस बीच धारा के साथ कई पेड़ लगे थे उस दिशा में चला गया और पेड़ पकड़ लिया। मोतिहारी डीएम शीर्षत कपिल अशोक शनिवार को हेलीकॉप्टर से भी बाढ़ प्रभावित इलाकों का एरिअल सर्वे किये। शीर्षत कपिल अशोक2011 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। वहीं मोतिहारी पुलिस कप्तान नवीनचंद्र झा 2009 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। नवीनचंद्र झा मूल रूप से बिहार के सहरसा निवासी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here