हिंदी दिवस पर अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन 

0
236
पटना: हिंदी दिवस के अवसर पर जगदम्बी प्रसाद यादव स्मृति प्रतिष्ठान, अंतर्राष्ट्रीय हिंदी परिषद् तथा वैश्विक हिंदी सम्मेलन के संयुक्त तत्वावधान में अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार एवं काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें वैज्ञानिक एवं तकनीकी शब्दावली आयोग के अध्यक्ष प्रो अवनीश कुमार ने कहा कि हिंदी की शब्दावली के विस्तार के लिए सभी भारतीय भाषाओं के शब्दों को हिंदी में समाहित किया जा रहा है।
अंतरराष्ट्रीय हिंदी परिषद् के अध्यक्ष वीरेंद्र कुमार यादव ने कहा कि सांस्कृतिक अस्मिता के निर्माण के लिए हिंदी भाषा का प्रयोग जरूरी है ।  कार्यक्रम में लोक गायिका नीतू कुमारी नवगीत ने पूरे भारत में सभी भारतीय भाषाओं के साथ ही हिंदी के प्रचार-प्रसार को बढ़ावा दिए जाने की जरूरत पर बल दिया । उन्होंने गोपाल सिंह नेपाली की प्रसिद्ध रचना हिंदी है भारत की बोली तो इसे अपने आप पनपने दो भी पेश किया । कार्यक्रम के अंत में नीतू नवगीत ने बिहार के कुछ पारंपरिक गीत भी सुनाए । जगदम्बी प्रसाद यादव स्मृति संस्थान की महासचिव डॉ अंशुमाला ने अतिथियों का स्वागत किया । वैश्विक हिंदी सम्मेलन मुंबई के निदेशक डॉ मोतीलाल गुप्ता और अखिल भारतीय नागरी लिपि परिषद् के महामंत्री डॉ हरि सिंह पॉल ने भी अपने विचार रखे ।
कार्यक्रम के दूसरे सत्र में प्रसिद्ध साहित्यकार डॉ शांति जैन की अध्यक्षता में काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसका संचालन डॉ अर्चना त्रिपाठी ने किया । कार्यक्रम में कनाडा की प्रख्यात साहित्यकार डॉ स्नेह ठाकुर, बुल्गारिया की कवयित्री डॉ मीना कौशिक, माधुरी चौधरी आराधना प्रसाद, आरती कुमारी, सच्चिदानंद सिन्हा डॉ मनोज राही, डॉ अंजनी कुमार, डॉ रंजना झा, मीनू सिन्हा मीनल आदि ने अपनी कविताओं का पाठ किया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here