पुलिस कप्तान हर किशोर राय की बड़ी कार्रवाई, 2 ड्राइवर, एक SHO समेत 15 पुलिसकर्मी सस्पेंड 

0
6
भोजपुर पुलिस कप्तान हर किशोर राय

पटना : भोजपुर पुलिस कप्तान हर किशोर राय द्वारा किये गए बड़ी कार्रवाई के बाद भोजपुर के पुलिसकर्मियों में हड़कंप मच गया है। जिले में वसूली अभियान में लिप्त पुलिसकर्मियों को सस्पेंड और कुछ को जेल भेजा गया है। बीते 22 और 23 फरबरी की रात पुलिस कप्तान स्वयं जिले की सड़को पर देर रात थानों की गस्ती गाड़ी की चेकिंग में निकले थे। पुलिस कप्तान द्वारा किये गए चेकिंग में इमादपुर थाना, सन्देश थाना और चांदी थाना के पुलिसकर्मियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है। रात्रि गस्ती में तीनो थाना के पुलिसकर्मी सड़कों पर ट्रक चालकों से वसूली कर रहे थे।

 

इमादुपर थाना की सरकारी गाड़ी को निजी चालक धीरज कुमार गुप्ता चला रहा था और ट्रक चालकों से रिश्वत वसूली का प्रयास कर रहा था। इस मामले में इमादपुर SHO, पेट्रोलिंग पदाधिकारी ASI सदानंद पांडेय, BMP सिपाही संजीत चौधरी, जय प्रकाश पाल, DAP सिपाही शिव कुमार को सस्पेंड किया गया है। वहीं सन्देश थाना का ड्राइवर होमगार्ड सिपाही धनंजय यादव ट्रक चालकों से वसूली करते हुए रंगे हाथ पकड़ा गया। होमगार्ड ड्राइवर धनंजय यादव को जेल भेजते हुए पेट्रोलिंग पदाधिकारी ASI दिलीप पासवान, DAP सिपाही जनार्दन कुमत, बिहार पुलिस के सिपाही संजीत यादव और विजय कुमार को सस्पेंड कर दिया गया।

 

जबकि चाँदी थाना के ड्राइवर DAP सिपाही शिव कुमार को भी ट्रक चालकों से अवैध वसूली करते हुए गिरफ्तार कर जेल दिया गया। रात्रि में निकले पेट्रोलिंग पदाधिकारी ASI अशर्फी लाल को सस्पेंड करते हुए चाँदी थाना के होमगार्ड जवान गुमानी सिंह, राजेश्वरी मिश्रा और सूर्यवंश राय को 6 महीने  के लिए ड्यूटी से बाहर किया गया। वहीं पुलिस कप्तान हर किशोर राय द्वारा चाँदी और संदेश थानेदार से स्पस्टीकरण माँगा गया है की क्यों ना आप लोगों को सस्पेंड किया जाए।

 

IPS अधिकारी हर किशोर राय के इस तरह की कार्रवाई की चर्चा हमेशा बिहार में सुर्खियों में रहती है। पुलिसकर्मियों द्वारा रिश्वत लेने का प्रमाण अगर किसी आम जनता द्वारा भी इन्हे दिया जाता तो प्रमाण की जाँच कराकर आरोप सही पाए जाने पर उक्त पुलिसकर्मी को सीधे जेल भेजा जाता है। भोजपुर के पहले बतौर सारण पुलिस कप्तांन रहते हुए हर किशोर राय द्वारा कई पुलिसकर्मी को जेल भेजा गया है। रिश्वत वसूली के मामले में इनका स्पस्ट कहना है की जब हमें सरकार वेतन के अलावे सभी सुविधा देती है तो रिश्वत वसूली आखिर क्यों ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here