हाथी दांत की तस्करी में वैशाली BJP कार्यकारी जिलाध्यक्ष समेत 3 अरेस्ट,35 किलो दांत के साथ चिरायु हॉस्पिटल से गिरफ़्तारी 

0
601
चिरायु हॉस्पिटल से बरामद करोड़ो के हाथी दाँत व कार्रवाई करने फारेस्ट ऑफिसर टीम 

पटना: राजधानी पटना के अगमकुआं थाना क्षेत्र बाईपास स्थित चिरायु हॉस्पिटल में वन विभाग की टीम ने बड़ी कार्रवाई की है। हॉस्पिटल से भाजपा नेता समेत 3 को वन विभाग की टीम ने 35 किलो हाथी दाँत बरामद करते हुए अरेस्ट किया है। इस कार्रवाई में बीजेपी के वैशाली कार्यकारी जिलाध्यक्ष डॉ ज्योति कुमार को गिरफ्तार किया गया है। वैशाली जिला बीजेपी के अध्यक्ष रमेश कुशवाहा के निधन के बाद डॉ ज्योति कुमार को वैशाली जिला का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया था। कई बड़े बीजेपी नेताओं से इनके संपर्क रहे हैं और बीजेपी के महामंत्री के पद पर भी डॉ ज्योति कुमार रह चुके हैं।

चिरायु हॉस्पिटल से बरामद करोड़ो के हाथी दाँत

अब हाथी दांत बरामदगी मामले में इनकी गिरफ्तारी होने के बाद बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं। वन विभाग की टीम ने डॉ ज्योति कुमार के साथ-साथ उनके ड्राइवर और एक बिचौलिए (बंटी व रविरंजन) को भी गिरफ्तार किया है। इन सभी से पटना के पाटलिपुत्र थाने में पूछताछ भी की गई है। वन प्रमंडल को यह गुप्त सूचना मिली थी कि बाईपास स्थित चिरायु हॉस्पिटल में हाथी के दांत की तस्करी हो रही है। इसी के बाद पटना डीएफओ रुचि सिंह के नेतृत्व में चिरायु हॉस्पिटल में छापेमारी की गई। जहां से डॉ ज्योति कुमार समेत तीन लोग रंगे हाथ 35 किलो हाथी के दांत के साथ पकड़े गए।

ग्राहक बन हॉस्पिटल पहुंचने वाली गोरखपुर डिविजनल फारेस्ट ऑफिसर व पटना वन विभाग की टीम

वन विभाग की टीम इस नतीजे पर पहुंची है कि इससे तस्करी का मास्टरमाइंड बीजेपी का कार्यकारी जिलाध्यक्ष डॉ ज्योति कुमार है। गिरफ्तार ज्योति कुमार वैशाली जिला के जंदाहा प्रखंड के खोपी गाँव के मूल निवासी हैं। डॉ ज्योति के पास कई दशक से हाथी है।

ग्राहक बन गोरखपुर डिविजनल फारेस्ट ऑफिसर पहुंचे थे चिरायु… 
कोलकाता वाइल्ड लाइफ क्राइम कण्ट्रोल ब्यूरो के इनपुट पर ग्राहक बन गोरखपुर डिविजनल फारेस्ट ऑफिसर ने पहले फ़ोन पर बात की। जिस दौरान उन्हें राजधानी पटना के बाईपास स्थित चिरायु हॉस्पिटल में बुलाया गया। जहाँ से तीनों की गिरफ़्तारी हुई है। जानकर बताते हैं की जब्त हाथी दांतो की कीमत करोड़ो में है। लेकिन जब्त हाथी दांत कितना पुराना है इसके अनुसार भी इसकी कीमत बढ़ती है। जब्त हाथी दांत मामले में असम कनेक्शन पर भी जाँच हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here